विश्व हाथ धुलाई दिवस मनाया गया एवं15 से 28 अक्टूबर तक हाथ धुलाई पखवाडा का होगा आयोजन

विश्व हाथ धुलाई दिवस मनाया गया
सिवनी | 15-अक्तूबर-20200
    मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ के.सी. मेशराम ने जानकारी देते हुए बताया कि शासन के निर्देशानुसार प्रतिवर्ष 15 अक्टूबर विश्व हाथ धुलाई दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2020 में कोविड-19 महामारी के प्रकोप के कारण हाथ धुलाई का महत्व और बढ़ गया है। कोविड-19 को ध्यान में रखते हुऐ समय-समय पर साबुन एवं पानी से 30 से 40 सेकेन्ड तक हाथ धोने के छः चरण विस्तृत रूप से बताए गए हैं। जिसमें खाना बनाने के पहले,  खाने के पहले,  बच्चों को खिलाने के पहले, शौच के बाद, साबुन पानी से साफ हाथ धोना चाहिऐ। जिससें अन्य बीमारियों से भी बचा जा सकता है। डॉ मेशराम ने बताया की हमारे हाथों में अनदेखी गंदगी छिपी होती है किसी भी वस्तु को छुने उसका उपयोग करने एवं कई तरह के दैनिक कार्यों के कारण होती है। यह गंदगी बगैर हाथ धोऐ खाद्य एवं पेय पदार्थ के सेवन से आपके शरीर में जाती है। और बीमारी को जन्म देती है। हाथों के धुलाई के प्रति जागरूकता पैदा करने के मकसद से पूरे विश्व में 15 अक्टूबर को विश्व हाथ धुलाई दिवस मनाया जाता है।
   उन्होंने बताया कि इस वर्ष 15 से 28 अक्टूबर तक हाथ धुलाई पखवाडा मनाया जा रहा है। जिसमें हाथ धोने के प्रति जागरूकता हेतु कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है। दरसल यह स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता का हिस्सा है, क्योकि हाथ की धुलाई से अनेक बीमारी से बचा जा सकता है और यह बेहतर स्वास्थ्य की ओर अच्छी पहल है। हर व्यक्ति को स्वास्थ्य के प्रति इन छोटी छोटी बातों के प्रति सजग होना चाहिए ताकि हम एक स्वस्थ समाज का निमार्ण कर सकें। विश्व हाथ धुलाई दिवस के अवसर पर जिला स्तर से ग्राम स्तर तक जिसमें उपस्वास्थ्य केन्द्र सह हेल्थ वेल्थ सेंटर ,प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, एवं अन्य संस्थाओं में हाथ धुलाई दिवस के कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें विभाग के अधिकारीगणों एवं सभी कर्मचारी स्टॉफ अन्य जनसमुह की भागीदारी  रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *