नाबालिग बालिका को बंंडोल पुलिस ने आर्थिक मदद देकर रत्नागिरी से बुलाया

नाबालिग बालिका को बंंडोल पुलिस ने आर्थिक मदद देकर रत्नागिरी से बुलाया


सिवनी:- जिला पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक के द्वारा कई विशेष अभियान चलाये जा रहे है उनके द्वारा अपहरण किये गये बालक बालिकाओं को दस्तयाबी का अभियान भी चलाया जा रहा हैं जिसके चलते बंंडोल पुलिस ने रत्नागिरी जाए बिना अपहरण की गई नाबालिग लड़की और उसे ले जाने वाले युवक को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए समझाया और उन्हें आथिर्क मदद उपलब्ध कराते हुए सिवनी बुला लिया ।

पुलिसकर्मी की रही सराहनीय भूमिका…


बंंडोल थाना अंतर्गत ग्राम उमरिया की एक नाबालिग लड़की एक साल से लपाता थी जिसकी रिपोर्ट बंंडोल थाना मे अपराध क्रं.205/19दर्ज थी इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए बंंडोल थाना प्रभारी दिलीप पंचेश्वर के दिशा निर्देश पर प्रधान आरक्षक गया प्रसाद मंगोरे ने विशेष प्रयास करते हुए जानकारी एकत्र की जिसमें पता चला कि अपहृत लड़की महाराष्ट्र के रत्नागिरी मे है जिसके साथ गांव के ही युवक प्रदीप उर्फ भोला उइके ने शादी कर लिया हैं जिसके बाद प्रधान आरक्षक गया प्रसाद मंगोरे ने दोनो के संबंध मे सूचना एकत्र की और उनके परिजनों को विश्वास मे लेकर फोन मे चर्चा किया तब उन्होंने बताया कि सिवनी आने के लिए उनके पास रूपये नही है तब बंंडोल पुलिस ने उनके खाते मे आर्थिक सहायता राशि भेजा जिसके बाद युवक उक्त लड़की को लेकर अपने गांव पहुंचा जहां बंंडोल पुलिस दोनों को बुलाकर पूछताछ किया तब लड़की ने बताया कि गांव के ही प्रदीप उर्फ भोला ने शादी करने.की बात कहकर अपने साथ ले जा लिया था तब से ही वह उक्त लड़की को अपने साथ रखकर उसका शारीरीक शोषण करते रहा बताया जाता हैं कि उक्त नाबालिग लड़की की एक पांच महिने की बच्ची भी है इस पूरे मामले मे पुलिस ने प्रदीप उर्फ भोला के विरुद्ध विभिन्न धाराओं के तहत मामला पंजीबद्घ करते हुए न्यायालय मे पेश किया जहाँ से उसे जेल भेज दिया उक्त नाबालिग लड़की को दस्तयाब कराने मे पदस्थ प्रधान आरक्षक गयाप्रसाद मंगोरे की अहम भूमिका रही ।

नाबालिग लड़की को भगाकर ले जाना वाला आरोपी…
थाना प्रभारी दिलीप पंचेश्वर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *