एमपी अजब है…गजब है…आस्था के नाम पर ‘अंधविश्वास’ का खेल जारी,,देखें ये खास रिपोर्ट CWS NEWS पर

आस्था के नाम पर अंधविश्वास आखिर कब तक,,

मध्य प्रदेश अजब है….
मध्य प्रदेश गजब है….

आस्था के नाम पर ‘अंधविश्वास’ का खेल जारी,,
आस्था के नाम पर सिवनी जिले में फैल रहा अंधविश्वास,,
शेषनाग की शक्ल का उगा पौधा,पूजन अर्चन के लिए उमड़ी भीड़

सिवनी:-
मध्य प्रदेश के सिवनी जिले के लखनादौन तहसील मुख्यालय से लगभग 18 किलोमीटर की दूरी पर आदेगांव से लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर आस्था के नाम पर अंधविश्वास का खेल लगातार जारी है.. पिछले कुछ दिनों में सिवनी से लेकर लखनादौन में काफी आस्था के नाम पर महुआ के पेड़ों पर पूजन अर्चन कि भीड़ में अंधविश्वास का खेल देखा गया था और अब फिर आदेगांव से महज 3 किलोमीटर की दूरी पर आस्था के नाम पर अंधविश्वास में लोगों का आना जाना लगा हुआ है।

हम बात कर रहे हैं मध्य प्रदेश के सिवनी जिले के आदेगांव थाना अंतर्गत हिनोतिया टोला ग्राम से नजदीक एक किसान के खेत में नाग देवता (शेषनाग) के आकार में कुछ पौधे निकल आए हैं.. जो हूबहू नागदेव के सिर जैसे देखने में दिख रहे हैं जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोगों का आना जाना लगा हुआ है..ओर आसपास के क्षेत्र के ग्रामीणजन बड़ी संख्या में दर्शन करने पहुचने लगे है और खेत पर ही पूजा अर्चना का दौर शुरू हो गया है आने जाने वाले हर ग्रामीण प्रसाद के साथ चढ़ोत्तरी करने लगे हैं।


जब इस अंधविश्वास के खेल के बारे में CWS NEWS की टीम को पता चला तो तुरंत उस खेत पर पहुंची जहां पर नाग देवता के आकार पर कुछ पौधे निकल आए हैं जिसे लोग नाग देवता कह रहे हैं और देखने के लिए कोसों दूर से कुछ पैदल तो कुछ गाड़ियों से आ रहे हैं.. जब हमारे संवाददाता बालमुकुंद सिंह ने उन नाग देवताओं को कैमरे में कैद करना चाहा तो तुरंत ही वहां पर बैठे किसानो ने कैमरे में कैद करने से मना कर दिया और बातों ही बातों में यहां तक ये कह डाला कि नाग देवताओं को कैमरे में कैद करने से यहां पर देवी आ जाती है और भयानक रूप लेकर अपना गुस्सा दिखाती हैं.. हालांकि वहां पर अंधविश्वास का खेल ऐसा चल रहा है जैसे मानो की कोई आस्था के नाम पर कमाई का जरिया बना हो जैसे-जैसे लोग वहां पर आ रहे हैं वैसे ही नारियल प्रसाद व पैसे की चढ़ोत्तरी की जा रही है.. जब हमने उस किसान से पूछा कि नागदेवता कैसे प्रकट हुए तो उन्होंने क्या कुछ कहा सुनिए उसकी जुवानी….

हालांकि जब इस पूरे मामले की जानकारी हमने आदेगांव पुलिस को दी तो तुरंत हरकत में आकर पुलिस टीम उस जगह पर पहुंची जहां पर नागदेव छोटे-छोटे पौधों पर आकृत हैं पुलिस टीम के द्वारा किसानों व मौके पर मौजूद लोगों को समझाने की कोशिश की लेकिन उन पर समझाइश का कोई असर नही हो पाया है। और लोग लगातार पूजन अर्चन कर रहे हैं। अब ऐसे विश्वास कहें या अंधविश्वास.।

हालांकि CWS news अंधविश्वास को कभी भी बढ़ावा नही देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *